Edition

Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

Barabanki News: प्रशासन की तानाशाही का हुए शिकार ? या चुनावी फायदे के लिए हज़ारों समर्थकों की भावनाओं से तनुज पुनिया ने किया खिलवाड़!

 

बाराबंकी।
कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी का कार्यक्रम निरस्त होने को लेकर कांग्रेस और जिला प्रशासन के बीच आरोप प्रत्यारोप चालू हैं। राहुल गांधी की जगह जनसभा में पहुँचे छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री भपेश बघेल ने कहा कि सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) राहुल गांधी से इतना डरी हुई है कि बीजेपी के दबाव के चलते जिला प्रशासन ने राहुल गांधी के हेलीकॉप्टर को उतरने की अनुमति नहीं दी। वहीं जिलाधिकारी/जिला निर्वाचन अधिकारी ने इन आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि रैली स्थल पर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के हेलीकॉप्टर को उतरने की अनुमति दी गयी थी और आरोप पूरी तरह से निराधार है।
ज़िला निर्वाचन कार्यालय का प्रेसनोट
बघेल का बयान मीडिया में आने के बाद खुद जिला निर्वाचन अधिकारी सत्येंद्र कुमार ने सामने आ कर आरोपो को खारिज किया। जिलाधिकारी ने तनुज पुनिया व जिला प्रशासन के बीच हुए पत्राचार की प्रतियां दिखाते हुए बताया कि कांग्रेस प्रत्याशी तनुज पुनिया ने 15 मई को रैली स्‍थल पर राहुल गांधी का हेलीकॉप्टर उतारने के लिए हेलीपैड बनाने संबंधी अनुमति के लिये ऑनलाइन आवेदन किया था, जिसपर जिला प्रशासन ने 16 मई को अनुमति दे दी थी।
राहुल की जनसभा की अनुमति की कॉपी
जिलाधिकारी ने बताया कि तनुज पुनिया द्वारा 17 मई को जिला निर्वाचन अधिकारी को एक पत्र लिखकर यह सूचना दी गयी कि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी का पूर्व निर्धारित कार्यक्रम कुछ जरूरी काम की वजह से निरस्त हो गया है, इसलिये उस कार्यक्रम में भूपेश बघेल मुख्य अतिथि के रूप में शामिल होकर जनसभा करेंगे। पुनिया द्वारा भेजे गये इस पत्र को संज्ञान में लेते हुए जिला प्रशासन ने बघेल की जनसभा (18 मई) को भी अनुमति दे दी थी।

 

 

17 मई को प्रशासन को भेजा गया तनुज पुनिया का पत्र
यहाँ यह भी गौरतलब है यदि प्रशासन ने हेलीपैड की अनुमति नही दी होती तो भूपेश बघेल का हेलीकॉप्टर बिना हैलीपेड आखिर कैसे लैंड हो गया? क्या रैली में मौजूद हजारों लोगों में से किसी ने उन्हें हेलीकॉप्टर से छलांग लगा कर जनसभा में शामिल होते देखा ? इसके अलावा जिला निर्वाचन अधिकारी और कांग्रेस प्रत्याशी तनुज पुनिया के बीच हुए पत्राचार से भी स्पष्ट है कि कांग्रेस नेताओं को राहुल गांधी का कार्यक्रम निरस्त होने की सूचना एक दिन पूर्व यानि 17 मई को ही प्राप्त हो चुकी थी।

सूचना मिलने के बावजूद कांग्रेस प्रत्याशी तनुज पुनिया और उनके समर्थक 18 मई 2024 की सुबह तक राहुल गांधी के आने का झूठा दावा कर लोगो से रैली में आने की अपील करते रहे। कांग्रेस नेताओं के इस झूठ का नतीजा यह हुआ कि अपना काम धाम छोड़कर राहुल को देखने पहुँचे लोगो को झुलसाने वाली भीषण गर्मी में घंटो के इन्तेज़ार के बाद मायूस होकर वापस लौटना पड़ा।

जनता को झूठ बोलकर रैली में बुलाने के अपने कृत्य के लिए जनता से माफी मांगने के बदले यहां भी कांग्रेस प्रत्याशी तनुज पुनिया ने चालाकी दिखाते हुए विक्टिम कार्ड खेल कर जनता की सहानुभूति बटोरने की शातिराना कोशिश कर डाली और सफेद झूठ बोलकर जिला प्रशासन पर हैलीपेड की अनुमति ना देने का आरोप जड़ दिया। इसके साथ ही तनुज पुनिया की आईटी सेल भी एक्टिव हो गयी और प्रशासन और बीजेपी पर हमलों की बरसात शुरू कर दी।
हैलीपैड पर न्यूज़ एजेंसी एएनआई से बात करते भूपेश बघेल
हालांकि प्रशासन के पलटवार के बाद तनुज पुनिया खुद अपने ही रचे चक्रव्यूह में फसते नज़र आ रहे हैं। 17 मई को जिला प्रशासन को लिखे तनुज के पत्र व प्रशासन की तरफ से दी गयी अनुमति की प्रति अब सोशल मीडिया पर कांग्रेस के झूठ की पोल खोल रही है। लोग मज़े लेते हुए कह रहे कि हैलीपेड पर हैलीकॉप्टर के साथ खड़े होकर भी हैलीपैड की अनुमति ना मिलने जैसा सफेद झूठ सिर्फ कांग्रेस पार्टी के नेता ही बोल सकते हैं। 
रिपोर्ट – मन्सूफ अहमद
Barabanki Express
Author: Barabanki Express

Barabanki Express News 24×7 is the most credible hindi news portal of District Barabanki. pls follow to get updates what's happening around ur City and District

5798
आपकी राय

बाराबंकी 53 लोकसभा क्षेत्र से आप किस प्रत्याशी को अपने सांसद के तौर देखना पसंद करते हैं ?

और पढ़ें

error: Content is protected !!